भाभी ने चुदवाकर शुक्रिया अदा किया

हैल्लो दोस्तों, कैसे है आप सब? आप सब लंड वालों को चूत और सब चूत वालीयों को लंड बराबर मिल रहे होंगे। में सुनील सूरत से हूँ। दोस्तों कुछ दिन पहले हमारे शहर में CNG की रेट के कारण ऑटो वालों ने हड़ताल की थी, तो यह उसी दिन की बात है। में सुबह के करीब 10 बजे अपनी बाईक लेकर एक काम से जाने के लिए निकला। फिर में दिल्ली गेट से होते हुए रिंग रोड़ पर पहुँचा। अब हड़ताल के कारण रोड़ बिल्कुल खाली था और में भी धीरे-धीरे बाइक चला रहा था। तभी अचानक से रोड़ के साईड में मुझे एक लेडी दिखी, जो 2 बैग लेकर चली जा रही थी और गर्मी के कारण वो पसीने से भीगी हुई थी और परेशान भी लग रही थी।

फिर मैंने अपनी बाइक उसके बाजू में रोकी और कहा कि मेडम क्या में आपकी मदद कर सकता हूँ? आज ऑटो वालों की हड़ताल है, आपको को कहीं जाना हो तो क्या में छोड़ दूँ? तो थोड़ी देर तो वो मेरे सामने देखती रही। तो तब मैंने कहा कि मेडम आप ऐसे क्या देख रही है? अगर आपको मेरी मदद की जरूरत ना हो तो कोई बात नहीं, मैंने तो बस ऐसे ही पूछ लिया। फिर तब उसने कहा कि नहीं ऐसी बात नहीं है, में अभी मुंबई से आ रही हूँ और आज तो कोई ऑटो वाला भी नहीं मिल रहा है, मुझे नहीं पता था कि आज हड़ताल है। फिर तब मैंने कहा कि क्या आप ऐसे ही चलकर जाएँगी? तो तब वो थोड़ी हंसी और बोली कि क्या आप मुझे ड्रॉप कर सकते है? तो तब मैंने कहा कि ठीक है और फिर वो मेरी बाइक के पीछे बैठ गई।

फिर रास्ते में में और वो एक दूसरे के बारे में बातें करते रहे। फिर उसने कहा कि प्लीज क्या आप बाइक शॉप के पास से ले सकते है, मुझे थोड़ा सामान खरीदना है, क्योंकि घर पर तो कुछ खाने को नहीं होगा। फिर तब मैंने कहा कि नो प्रोब्लम और फिर मैंने सीधी बाइक शॉप के पास रोकी और तो वो उतर गई और मुझे थैंक यू कहा और मेरा मोबाईल नम्बर माँगा। तब मैंने कहा कि मेरा नम्बर क्यों? तो तब उसने कहा कि आपने मेरी मदद की है और आप मुझे अच्छे इंसान लगे, क्या हम दोस्त नहीं बन सकते? तो तब मैंने उसे मेरा नम्बर दिया और कहा कि वैसे आप रहती कहाँ हो? क्योंकि सामान लेने के बाद आपको घर भी तो जाना होगा।

फिर उसने कहा कि उस सामने वाले अपार्टमेंट में। तब मैंने कहा कि ओके चलो, तो अब में चलता हूँ, ओके बाए और फिर उसने एक बार और थैंक्स कहा और फिर में वहाँ से अपने काम के लिए चला गया। अब मुझे अपना काम खत्म करने में करीब 2 घंटे हो गये थे, तो तभी मुझे एक लोकल नम्बर से फोन आया तो मैंने हैल्लो किया और पूछा कौन? तो उधर से कहा कि सोचो कौन है? तो तब मैंने कहा कि मुझे नहीं पता, कौन हो? तो तब उसने कहा कि अभी मिले थे और इतनी जल्दी भूल गये। फिर तब मैंने कहा कि कौन? तो वो बोली कि में टीना, जिसकी आपने अभी थोड़ी देर पहले मदद की थी। तब मैंने कहा कि अरे हाँ सॉरी, मेरे दिमाग से ही निकल गया था, बोलो कैसे फोन किया? और आप घर तो पहुँच गई हो ना। तो वो बोली कि हाँ पहुँच गई हूँ, ये बताओं तुम कहाँ हो? तो तब मैंने कहा कि यहीं पास में हूँ। तो तब वो बोली कि एक काम करो मेरे घर आ जाओ, कॉफ़ी पीते है और उसी बहाने में आपका शुक्रिया अदा कर सकती हूँ।

फिर तब मैंने कहा कि सॉरी अभी तो मैंने लंच भी नहीं किया है। तो तब वो बोली कि कोई बात नहीं कॉफी पीने और लंच भी मेरे घर कर लो, वैसे में खाना बहुत अच्छा बनाती हूँ। फिर तब मैंने उससे ऐसे ही पूछा कि क्या तुम किसी को भी ऐसे एक मुलाकात में घर पर बुला लेती हो क्या? तो वो कहने लगी कि नहीं, लेकिन कुछ लोग ऐसे होते है जिनसे एक बार मिलते ही ऐसा लगता है कि वो हमारे बहुत पुराने दोस्त है जैसे कि आप हो। फिर तब मैंने कहा कि ओके, में थोड़ी देर में आता हूँ, मगर तुम्हारा फ्लेट नम्बर क्या है? तो तब उसने मुझे फ्लेट नम्बर दिया और फिर में अपना काम खत्म करके उसके घर की तरफ चला गया। फिर मैंने डोर बेल बजाई तो उसने दरवाजा खोला, उसने ब्लेक कलर की साड़ी पहनी थी और नहाने के कारण उसके बाल भी भीगे हुए खुले थे, उसने साड़ी नाभि के नीचे बांधी थी, सच कहूँ तो क्या कयामत लग रही थी? में तो थोड़ी देर तक उसको देखता ही रह गया था, क्या यह वही टीना है जो मुझे रोड़ पर पसीने से भीगी हुई मिली थी?

फिर उसने कहा कि वेलकम सुनील, वेलकम माई होम, प्लीज कम इन और फिर हम अंदर चले गये और फिर थोड़ी ऐसे ही बातें करने लगे। फिर मैंने कहा कि घर पर कोई नहीं है क्या? तो तब वो बोली कि नहीं, हम सब मेरे भाई के यहाँ मुंबई गये थे और वहाँ से मेरे पति दिल्ली काम के लिए चले गये और बच्चे थोड़े दिनों के लिए अपने मामा के घर पर ही रुक गये है और में आज अकेली आई हूँ। फिर उसने मुझे पानी दिया तो मैंने कहा कि तुमने तो मुझे लंच के लिए बुलाया था, क्या सिर्फ़ पानी ही पिलाना है? तो तब उसने कहा कि नहीं, चलो लंच करते है, तुम टेबल पर आओ, में अभी तैयार करती हूँ। फिर हमने साथ में लंच किया, सच में उसने बहुत ही अच्छा लंच बनाया था। फिर मैंने कहा कि आप कुकिंग बहुत अच्छा करती है। तब वो बोली कि प्लीज मुझे आप कहकर मत बुलाओ, ऐसा लगता है जैसे में बूढ़ी हो गई हूँ क्या? हम फ्रेंड्स है, प्लीज मुझे तुम कहो।

फिर तब मैंने कहा कि ओके, तुम खाना बहुत अच्छा बनाती हो, तो उसने कहा कि थैंक्स और अब वो मुझे थोड़ा और खाना परोसने के लिए खड़ी होकर मेरी प्लेट में दाल डाल रही थी कि उसका पल्लू दाल के अंदर गिर गया। तो तब उसने कहा कि ओह और अब वो स्लीवलेस ब्लाउज में मेरे सामने थी। अब उसे देखकर मेरा बैलेन्स बिगड़ रहा था, उसके बड़े-बड़े बूब्स जो कि आधे बाहर दिख रहे थे। अब मेरी नजर वहाँ पर रुक गई थी और अब वो भी मुझे देखने लगी थी और बोली कि क्या देख रहे हो? तो तब मैंने कहा कि कुछ नहीं। फिर तब उसने कहा कि में अभी चैंज करके आती हूँ और फिर वो चैंज करके आई। अब उसने एक पिंक कलर की नाइटी पहनी थी, जिसमें से उसके अंडरगारमेंट साफ-साफ दिख रहे थे। अब तो मेरा हाल और बुरा हो रहा था। फिर हमने लंच खत्म किया और फिर मैंने उससे कहा कि चलो, अब में चलता हूँ, खाना बहुत अच्छा था।

फिर वो बोली कि तुम्हें अभी कोई काम है क्या? तो मैंने कहा कि नहीं। तो तब वो बोली कि थोड़ी देर रुको ना, में आइसक्रीम भी लाई हूँ, थोड़ी ख़ाकर चले जाना। तो मैंने कहा कि नहीं। फिर तब वो बोली कि प्लीज, तो फिर मैंने कहा कि ओके और फिर में सोफे पर बैठकर टी.वी देखने लगा। उसके घर का ए.सी ऑन था और बाहर गर्मी भी ज़्यादा थी, तो वैसे भी मुझे बाहर जाने का मन नहीं हो रहा था। तो तभी वो कांच के दो कप में आइसक्रीम लेकर आई और एक मुझे दिया और दूसरा वो खुद खाने लगी। फिर मैंने आइसक्रीम खाई और उससे कहा कि वाउ बहुत अच्छी है। तो वो बोली कि कौन? तो मैंने कहा कि आइसक्रीम। फिर वो बोली कि ओह, में तो समझी की तुम मेरे बारे में कह रहे हो। तब मैंने कहा कि तुम भी बहुत अच्छी हो। फिर वो बोली कि सच, तुम्हें मुझमें क्या अच्छा लगा? तो में मुस्कुराने लगा।

फिर वो बोली कि में जानती हूँ तुम्हें क्या अच्छा लगा? तो तब मैंने कहा कि क्या जानती हो? क्या अच्छा लगा? तो तब वो बोली कि जब मेरी साड़ी दाल में गिर गई थी, तो तब तुम क्या देख रहे थे? क्या तुम्हें वो अच्छे लगे? तो तब मैंने कहा कि क्या? तो तब वो बोली कि चलो, अब झूठ मत बोलो, मुझे सब पता है तुम मेरे बूब्स देख रहे थे, क्या तुम्हें वो अच्छे लगते है? क्या तुम्हें पूरे देखने है? अब में तो हैरान रह गया था, अब मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या कहूँ? फिर मैंने कहा कि अब कोई सामने से दिखाएगा तो कौन गधा होगा जो नहीं देखेगा। फिर उसने आइसक्रीम टेबेल पर रखी और अपनी नाइटी के बटन खोलकर नीचे कर दी और अपनी ब्लेक ब्रा भी निकाल दी। अब में तो बस देखता ही रह गया की यह क्या हो रहा है? उसका साईज़ 36D होगा। अब वो मेरे सामने दो मस्त रसीले बूब्स खोलकर बैठी थी और बोली कि अब बोलो कैसे लगते है? तो तब मैंने कहा कि वाउ ये तो कमाल के है, क्या में इसे टच कर सकता हूँ? तो तब वो बोली कि अरे डियर यह भी कोई पूछने की बात है, टच करने के लिए ही तो दिखाए है।

फिर में खड़ा होकर उसके बगल में बैठ गया और उसका एक बूब्स दबाने लगा। तो तब उसने अपनी आँखें बंद कर ली और अचानक से अपने दोनों हाथों से मेरा सिर पकड़कर अपने होंठ मेरे होंठो पर रख दिए और मुझे पागलों की तरह किस करने लगी थी। अब में भी उसको अपनी बाँहों में दबाकर किस करने लगा था। अब हम दोनों की जीभ एक हो रही थी। अब में उसके बूब्स दबा रहा था और उसकी पूरी बॉडी को सहला रहा था। फिर धीरे-धीरे मेरा एक हाथ उसकी पेंटी के ऊपर गया, तो मैंने देखा कि वो गीली थी। तो तब मैंने कहा कि तुम्हारी पेंटी तो गीली है। तो तब टीना बोली कि डियर जब से बाइक पर तुम्हारा स्पर्श हुआ है तब से मेरी चूत में खुजली हो रही है तो गीली नहीं होगी तो क्या होगी? चलो अब कपड़े उतारो। तब मैंने कहा कि तुम खुद ही उतार लो, तो वो बोली कि अच्छा? ओके चलो में ही उतारती हूँ और फिर उसने मेरी पेंट शर्ट और अंडरवेयर सब निकाल दिए।

अब में पूरा नंगा हो गया था और फिर मैंने भी उसकी नाइटी और पेंटी उतार दी। अब में उसे सोफे पर लेटाकर उसके बूब्स चूसने लगा था, वाउ क्या मस्त बूब्स थे उसके? दोस्तों क्या बताऊँ? फिर मैंने थोड़ी आइसक्रीम लेकर उसके बूब्स पर रखी और उसे चाटने लगा। अब उसे भी बड़ा मज़ा आ रहा था। फिर मैंने थोड़ी आइसक्रीम उसके पेट पर और उसकी पूरी बॉडी पर लगाई और चाटने लगा। अब वो तो मदहोश हो रही थी और बोली कि प्लीज अब नहीं रहा जाता, प्लीज जल्दी करो ना। तो तब मैंने कहा कि ऐसी भी क्या जल्दी है? डियर थोड़ा और मज़ा लो और फिर मैंने उसकी पूरी बॉडी को चूमा और फिर मैंने उसे सोफे पर बैठा दिया और में नीचे बैठ गया और उसके दोनों पैरो को खोलकर उसकी चूत को अपनी जीभ से सहलाने लगा था। वाह क्या बताऊँ दोस्तों? क्या मस्त पिंक चूत थी उसकी? अब वो तो पागलों की तरह आआहह, सस्स्स्स्स, हाईईईईईई, आहह करने लगी थी।

फिर मैंने कहा कि जरा धीरे, पड़ोसी सुनेंगे तो क्या कहेंगे? तो तब वो बोली कि आज अगर पूरा जमाना सुन ले तो भी मुझे कोई गम नहीं है, आह बहुत मज़ा आ रहा है, प्लीज सुनील, आह और हाआहहुचह प्लीज और सुनील आई लव यू, बहुत मज़ा आ रहा है, आहह, आज तक किसी ने मेरी चूत नहीं चाटी, आज तुमने मुझे खुश कर दिया, काश तुम मुझे पहले मिल गये होते तो मुझे आज तक भूखा नहीं रहना पड़ता, आह और और जोर से, आहह, आआहह, मेरा पानी निकलने वाला है, आह में गई, आह सुनिल और फिर उसने अपना पानी छोड़ दिया। फिर वो खड़ी हो गई और मुझे सोफे पर बैठाकर खुद नीचे बैठकर मेरा लंड चूसने लगी थी। अब में उसकी पीठ सहला रहा था, उसकी नंगी पीठ क्या थी? दोस्तों उसे देखकर तो किसी का भी लंड खड़ा हो जाए। अब वो मेरा लंड चूस रही थी और में उसके बूब्स दबा रहा था। फिर मैंने उसे उठाकर अपनी गोद में बैठने को कहा तो वो मेरा लंड अपनी चूत में डालकर ऊपर जंप करने लगी। अब पूरे कमरे में आअहह, आआहह, पच-पच की आवाज़े आ रही थी, अब वो आअहह मज़ा आ रहा है, आआ, आअहह, कम ऑन, फुक मी, फुक ममी कह रही थी।

अब वो जंप करते-करते मुझे किस भी कर रही थी और में भी उसके पूरे चेहरे पर, गले पर और बूब्स पर किस कर रहा था, वाह्ह्ह क्या मज़ा आ रहा था? फिर मैंने उसे खड़ी करके उसका एक पैर सोफे पर रखा और उसे झुकाकर पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डालकर उसे चोदने लगा था। अब वो और ज़ोर-ज़ोर से आवाज़े निकाल रही थी आआहह, आअहह, कम ऑन, फुक मी, आआअहह, कम ऑन सुनील, आह सुनील, बहुत मज़ा आ रहा है और फिर मैंने उसे सोफे पर बैठाकर थोड़ी देर तक चोदा। फिर मैंने उससे कहा कि मेरा निकलने वाला है। फिर तब वो बोली कि मुझे तुम्हारी क्रीम खानी है मेरे मुँह में छोड़ो, तो मैंने खड़ा होकर उसके मुँह में मेरा लंड दे दिया और वो उसे हिलाने लगी थी। अब मेरा पूरा वीर्य उसके मुँह में चला गया था। फिर हम नंगे ही बाथरूम में गये और नहाने लगे, तो मैंने नहाते-नहाते फिर से एक बार उसकी चुदाई की ।।

धन्यवाद …

Click here!

Updated: October 7, 2017 — 11:13 am

RSS bhai behen ki sex pic

1 Comment

Add a Comment
  1. 9855857248call only girl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exclusive bhabhi aur aunty chudai kahani everyday-99Hindi sex story © 2016
error: