क्या लडकियो की चूत की तड़प नहीं होती है ?

Kya ladkio ki chut ki tadap nahi hoti hai???

प्रेषक :रानी …चूत की रानी ,hindi chudai kahaniya

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रानी है, में बिहार पटना की रहने वाली हूँ। आज में आप सब चूत के पूजारियो को अपनी एक रियल स्टोरी बताने जा रही हूँ, पहले आप मेरी सेक्सी फिगर जान लो, मेरी चूचीयाँ 34 साईज़ की है, क्योंकि अभी मेरी उम्र 21 साल है, मेरी गांड गदराई हुई, लेकिन सिर्फ़ 38 साईज की है। आज में मेरी और मेरा पड़ोसी जिशान की चुदाई की स्टोरी बताने जा रही हूँ। जिशान मेरे बचपन का दोस्त भी है, हम साथ में बड़े हुए है। ये बात 2 साल पहले की है। जिशान अक्सर मुझे गंदी नजरो से देखता है, मुझे पता है कि वो मेरी चूचीयों को घूरता रहता है, लेकिन मैंने उसे कभी मना नहीं किया और उसे मज़ा लेने देती थी।जब गर्मी का मौसम था और एक दिन में अपने बाथरूम में नहा रही थी और जिशान अपनी छत पर चढ़कर मुझे नहाते हुए देख रहा था।

अब मुझे कुछ पता नहीं था और में अपने मज़े से अपनी चूचीयों और चूत को रगड़-रगड़कर नहा रही थी कि तभी मेरी नज़र जिशान से मिल गई, तो में शरमा गई, लेकिन अब जिशान मुझे देखकर मुस्कुरा रहा था और वो वहीं खड़ा होकर मुझे देख रहा था। अब में नहाने के बाद अपनी ब्रा और पेंटी पहन रही थी और जिशान मेरी गांड और चूत और चूचीयों के दर्शन करके मज़े ले रहा था। फिर में अपने सारे कपड़े को धोने के बाद जिशान की छत पर कपड़े सुखाने चली गई थी, उस टाईम उसके घर पर उसकी माँ भी थी इसलिए उसने मुझसे कुछ नहीं कहा और में अपने कपड़े डालकर आ गई, लेकिन शाम को जब में अपने कपड़े लेने गई, तो उसके घर पर सिर्फ़ जिशान ही था।फिर में अपने कपड़े लेने छत पर गई, अब मुझे मेरे सारे कपड़े मिल गये थे, लेकिन मुझे मेरी ब्रा और पेंटी नहीं मिली थी। अब मुझे कुछ शक हुआ कि जिशान ने ज़रूर छुपा दिए होंगे, फिर मैंने जिशान से पूछा कि तुमने मेरे कपड़े छुपाए है? तो उसने कहा कि नहीं, तो मैंने बोला कि मेरी ब्रा और पेंटी नहीं मिल रही है, तो जिशान हँसने लगा और बोला कि हाँ मैंने रखी है, आज जब तुम मुझे अपनी ब्रा और पेंटी पहन कर दिखाओगी तो में तुमको यह दूँगा, नहीं तो अपने मुठ से तेरी ब्रा और पेंटी को खराब कर दूँगा।

फिर मैंने कहा ठीक है में पहनकर दिखाऊँगी, लेकिन तुम किसी को कुछ मत बताना कि मैंने ऐसा कुछ किया था। फिर जिशान बोला कि पम्मी जान में किसी को कुछ भी नहीं बताऊंगा, बस मुझे अपनी जवानी की थोड़ी सी झलक दिखा दो ना। उस टाईम मैंने मेक्सी पहनी हुई थी। फिर मैंने अपनी मेक्सी उतार दी, जब मैंने अंदर रेड कलर की ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर जिशान ने मेरी मदद करके मेरी मेक्सी उतार दी और पीछे से आकर मुझे अपनी बाँहों में भर लिया। अब उसके पजामे से उसका लंड मेरी गांड में चुभ रहा था, लेकिन अब मुझे मज़ा भी आ रहा था। फिर जिशान मेरी चूचीयों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा, जिससे में जोश में आने लगी और मौन करने लगी। तो जिशान और जोश में मेरी दोनों चूचीयों को दबाने लगा और फिर धीरे से उसने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया। अब में ऊपर से पूरी नंगी हो गई थी और जिशान मेरे बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा था। अब मेरी बेताबी और बेचैनी बढ़ने लगी थी, फिर मैंने धीरे से अपने एक हाथ से जिशान का लंड पकड़ लिया और उसके लंड को सहलाने लगी। फिर जिशान ने मुझे ज़मीन पर लेटा दिया और मेरी पेंटी भी निकाल दी, अब में पूरी नंगी हो गई थी। अब जिशान मेरी चूत पर जिस पर बहुत सारे बाल थे, उसे अपने हाथ से सहलाने लगा था और मेरे दोनों पैरो को फैलाकर बीच में बैठ गया था। फिर वो नीचे झुककर मेरी चूत पर अपना मुँह लगाकर चाटने लगा और मेरी चूत के दाने को अपनी जीभ से छेड़ने लगा, अब में तो जैसे सातवें आसमान में पहुँच गई थी।

फिर जिशान ने अपना पजामा उतारकर अपने लंड को मेरे मुँह में डाल दिया। अब में उसके लंड को लॉलीपोप की तरह चूसने लगी थी। फिर कुछ देर के बाद जिशान मुझे लेटाकर मेरे ऊपर लेट गया और अपने 6 इंच के लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा। अब मेरी चूत से रस निकल रहा था, फिर जिशान ने अपने लंड का सुपड़ा जैसे ही मेरी चूत में डाला तो मुझे बहुत दर्द होने लगा। फिर जिशान बोला कि पम्मी डार्लिंग फर्स्ट टाईम चुदवा रही हो ना इसलिए दर्द हो रहा है, अब कुछ देर के बाद तुम्हें बहुत मज़ा आने वाला है। अब जिशान ने मुझे किस करते हुए मेरी चूत में अपना सारा लंड पेल दिया था और ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगा था। अब मुझे बहुत दर्द हो रहा था, लेकिन अब मुझे धीरे-धीरे आनंद भी आने लगा था और अब में भी अपने चूतड़ उठा उठाकर उसके 6 इंच के लंड को अपनी चूत में लेकर चुदवाने लगी थी।

अब जिशान ने टी.वी ऑन कर दिया था, ताकि हम दोनों की चोदने और चुदवाने की आवाज़ बाहर ना जा सके। अब पूरा रूम पच-पच और छप-छप की आवाज से गूँज रहा था, अब मेरी चूत बहुत बार झड़ गई थी और इससे मेरी पूरी चूत गर्म हो गई थी। फिर जिशान ने मुझे उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया और अपने लंड को मेरी चूत पर टिकाकर बोला कि पम्मी डार्लिंग लंड पर बैठ जाओ। तो मैंने भी उसके लंड पर अपनी चूत टिका दी और बैठ गई और ऊपर नीचे होने लगी। अब उसका लंड पूरा का पूरा मेरी चूत में समा जा रहा था, अब नीचे से जिशान भी अपनी फुल स्पीड में चुदाई करने लगा था। अब हम दोनों गर्मी के मौसम में पूरी तरह से पसीने में भीग गये थे। फिर कुछ देर के बाद जिशान के लंड ने मेरी चूत में अपनी सारी मलाई छोड़ दी, अब मेरी पूरी चूत भीग गई थी। अब इस तरह से हम अक्सर चुप-चुपकर चुदाई का मज़ा लेते रहते है ।

धन्यबाद ……….

If you like this hindi esx  story, then click for more here sxx hindi .

Join with 10,000 readers everyday and read new exciting story

Exclusive bhabhi aur aunty chudai kahani everyday-99Hindi sex story © 2016
error: