ऑफिस के बॉस से मई तो चुदगायी वोह भी बिना कंडोम के

हेल्लो दोस्तों ,मेरा नाम प्रिया है ,और मई ये साईट में काफी बार आया हु ,और यहाँ का स्टोरीज पड़ना मुझे बोहोत पसंद है ,मेरी ऑफिस के एक  साथी ने ही मुझे ये साईट के बारे में बताया है .
मई गुजरत की एक छोटे सहर से हु ,पहेली बार नौकरी करने के लिए ये सहर में आया था .डेल्ही में मई एक दम से नया था ,पेहेलेदीन के इंटरव्यू से लेकर आज बोहोत कुछ बदल गया है .मेरी ऑफिस के बॉस रमेश बाबु एक सादी सुदा आदमी थे ,पर बारे  ही लड़की बाज  किसम के थे ,ऑफिस में उनके कारनामो का चर्चा दूर दूर तक फैला हुआ था ,बॉस का उम्र ४५ साल के अस पास होगा ,और उनका लैंड भी काफी बार होगा इसका पता चल ता है उनका पेट देख कर .
मेरा सिलेक्शन मेरे ऑफिस के बॉस नही किया था ,३० कैंडिडेट के बिच में  से मुझे ही सेलेक्ट किया गया था ,बाद में मैंने ऑफिस के बाकि करम चारी से सुना था ,बॉस मुझे पर्सनली लाइक करते है .ऑफिस में मई मर्दों के साथ उतना घुल मिल नहीं पता था ,पहेले कुछ महीनो तक खली हा ना मेही रहा ,
मुझे ऑफिस के केबिन में जाके  बॉस को अपना पूरा दिन का प्रोजेक्ट समझाना परता था ,मैंने एक बात पहेले दिन से ही नोटिस किया है ,की बॉस मेरा तारीफ करते हुए कभी थकते नहीं थे ,और बात बात में मेरा नस्दिक अजाना ,और मुझे बातो बातो की बहाने में छूना ,मुझे ये सब पहेले नार्मल लगता था ,मई थोडा सा कंफ्यूज था .
उसदिन मई कैंटीन पे खाना खा रहा था ,मेरी सीनियर माला मैडम  आया .वोह मेरे से काफी बड़ी  थी उम्र में  और हमारे प्रोजेक्ट का देखभाल वोही कर रही थी .तो हम पहेले भी बाते कर्चुके थे ,और सुनने में ये तक आया था की बॉस के साथ उनका अबैध संपर्क भी था ,बॉस को काफी भाऊ भी देती थी .
उनोने ही कहा की ऑफिस का annual पार्टी है ,हम सभी को आना पड़ेगा .और ड्रेस कोड को चेंज  करके हम सब लडकियो को जीन्स और टॉप पेहेनना पड़ेगा .मई तो कभी जीन्स पहेना ही नहीं था ,और बॉस को साम को मिलना है .
मई थोडा सा घबरा गयी ,मई सोचा कोई ऑफिस का काम होगा इसीलिए उनोने बुलाया होगा .मई ऑफिस ख़तम होने के बाद उनके केबिन में गया तो उनोने मुझे हस्ते हुए कहा ,”प्रिया आयो बेठो ,काल हमने एक पार्टी रक्खा है ,जिसमे तुम्हे आना ही पड़ेगा ,और पार्टी में सब बड़े बड़े लोग रहेंगे ,तुम्हे काफी पसंद आयेगा .और हा मैंने तुम्हारे लिए कुछ रक्खा है .”
मई थोडा सा अस्चार्यचाकित हो गया तो उन्होंने एक प्लास्टिक बैग दिया ,और कहा ,”मई तुम्हारे लिए ये लाया ,इसमें जीन्स और टॉप है जो तुम्हे काल पार्टी में पेहेनके आना पड़ेगा ,मई सामको तुम्हारे घर से तुम्हे पिक उप करने आयुंगा .”
मुझे ड्राईवर साम की ठीक सैट बाजे गाड़ी ले के पिक उप करने अगेया .मुझे छोटी टॉप में बोहोत ही सरम महेसुस हो रहा था .मई काफी uncomfortable फील कर रही थी .बॉस ने आकार मुझे सरब की गिलास पकड़ा दिया और कहा ,”चियर्स प्रिया ,एन्जॉय करो इस साम को ,ये पार्टी मैंने तुम्हारे लिए ही रक्खा है .अज तुम इस सराब की गिलास की तराही नशीला और खुबसूरत लग रहो हो ,”
मैंने कहा ,”thanks पर मई सराब नहीं पिता ,”
बॉस ने कहा ,”ठीक है ,रुको मई थोडा सा लेमन जूस लेके आता हु सब एन्जॉय कर रहा है ,और तुम खली खली रहोगे ये बिलकुल सूट नहीं करता है .”
बॉस ने कुछ ही मिनिट के अंडर दोनों गिलास लेकर अगेया ,एक में वोडका था और एक में जूस ,पर बॉस का नजर अज मेरे तन बदन से हठ नहीं रहा था ,उनके इरादों के बारे मुझे पता चल रहा था ,और पता नहीं क्यों जूस पिने के बाद सब कुछ और भी नशीला नशीला हो गया .मई ने कभी किसी लड़के को गंदे नज़र से नहीं देखा था ,पर अज बॉस को देख कर मेरी अन्दर का औरत जग उठा ,मेरी प्यान्टी गिला हो चूका था ,मुझे चक्कर आने लगा .मुझे बॉस ने संभाल लिया अपने हाथो पे .
मई कहा ,”मुझे थोडा चक्कर आरहा  है .”
बॉस ने मुस्कुराया ,और कहा कुछ बात नहीं है प्रिया मैंने उसमे थोडा सा दारू मिला दिया था ,तुम थोडा देर तक मेरे रूम में मेरे साथ रेस्ट लोगी तो बिलकुल ठीक हो जायेगा .
मेरी होस बिलकुल जैसा था नहीं ,पर मुझे बोहोत ही अच्छा महेसुस हो रहा था ,मुझे पहेली बार ये अहेसास हो रहा था की मर्द का सुख क्या होता है .
all kind of desi xxx pic and sex story available exclusive
मई अपने अप को बिस्तर में देखा ,और बॉस ने मुझे बिस्तर में लेक दरवाजा बांध कर दिया और बोला की अब हम लोगो को कोई डिस्टर्ब नहीं करेगा ,मई जोर से हस पारी ,मुझे हस्ते देख बॉस की काफी चौक गया था ,पर मुझे उनसे चुदवाने में कोई दिक्कत नहीं था,क्यों की मई भी चाहता था और बॉस और मेरे बिच जो कुछ भी होगा वोह सब दोनो के बिच रहेगा और बांध दरवाजे के पीछे ,और जो मेरे तरक्की के लिए भी काफी जरुरी था .
मेरी नस्दिक में एके मेरी जेनस के निचे हाथ फेरने लगा ,तो मेरी मु से सिसकारी निकल गया ,वोह काफी जल्द बजी में थे और वोह बोला ,”रंडी अज मुझ से चुद्वाले पूरा जिंदगी तुझे कोई टेंशन नहीं रहेगा .”तुझे मई रानी की तारा रखूँगा .”
पर मई थोडा सा पहेले उनको माना करता रहा ,पर वोह जब मेरे होठो को चुमते हुए मेरे जिव को चूसने लागा मई उनके सामने पुरे तरीके से समर्पित हो गया ,और वोह धीरे धीरे मेरा जीन्स का चैन खोल के जीन्स के अन्दर प्यांटी में हाथ डाला.तो उनका हाथ पूरा गिला हो गया .
वोह गिला ऊँगली को लेकर मेरी मु में डाल दिया ,अब मेरे मु मेरे ही चुत का रस था और जो मुझे बोहोत ही पसंद आरहा था .मई नशे में धुंद था इसीलिए मुझे चोदने के बॉस बोहोत ही खुस हो रहा था .मुझे अब तिरछा करके लेटाकर मेरे प्यांटी को जमीन में फेक दिया और मेरे गांड में मु लगाया ,तो मई सिसक गयी और पूरी तरीके से काबू से बहार हो गया ,पूरी बिस्तर हिल रहा था ,और वोह मुझे हैवानो की तरह लेरहा था .मेरे गांड को चाट चाट के लाल कर दिया था और वोह ढीला कर रहा था ,जब वोह पूरी तरीके से ढीला पर गया तब अपना ९ इंच का लवड़ा लेके मेरे  गांड में घुसा दिया ,मई चीख उठी दर्द से पर वोह सुननेको तैयार ही नहीं था .
रात भर पूरा बरी बरी की से लिया ,और सुबह होतेही कुछ पैसा बैग में रखकर निकल गया .इसी तरह कभी प्रमोशन के बहाने नहीं तो कभी पैसो के लालच में किस्तों में चुदती रही .
पर मुझे बॉस का लुम्बा लैंड बोहोत पसंद था .अगर कोई ऐसा लैंड वाला हो तो मुझ से जरुर कांटेक्ट करे .

धन्यबाद…..

Updated: May 23, 2016 — 4:19 pm

Join with 10,000 readers everyday and read new exciting story

Exclusive bhabhi aur aunty chudai kahani everyday-99Hindi sex story © 2016
error: