mami ke sath suhagraat ki kahani

हेल्लो दोस्तो मेरा नाम राहुल है ,और मई डेल्ही का रहेने वाला हु .मई 19 साल का लौंडा हु .काफी जवान और हट्टा कट्टा हु .मेरी एक गर्लफ्रेंड भी है ,जिसको मई ने सेक्स छोर के सब कुछ किया है .
पर असली माजा जो मुझे देती है वोह है मेरी मामी .उनकी अदा के बारे में मई क्या बताऊ .देखने में बिलकुल मॉल दिखती है ,देखके ही लैंड खेचने का मन करता है .जब छोटा था तब कुछ समझ में नहीं आता था ,ये सोच के मामी को बोहोत बार नंगा नहाते हुए देखा ,और उनकी दोनों बारे बारे ३६ के मुम को भी दबाया था ,मामी के साथ सोने में बारा माजा आता था ,सोने के बहाने बहाने उनके चुत और गंद में भी हाथ फेर देता था .
ये सब सिनसिला दोनों तरफ से स्टार्ट हुआ ,जब समर के छुट्टी ओ में मई मामा के पास गया छुट्टी मानाने के लिए ,मामा कुछ काम से बहार जाता था ,और मई और मामा की लड़का सुदेश एक साथ मामी के साथ सो जाता था .उसदिन बोहोत ही गरमी था ,और मामी के तन पे कोई कपड़ा डाला नहीं तो ,बाद में मुझे पाता चला की वोह तो जन बुझ के ही नहीं डाला था .
मामी के गरमा गरम बदन के साथ लिपट जाने का मन कर रहा था ,मई किसी भी तरीके से अपने आपको रोक नहीं प् रहा था .मामी भी जैसे बिस्तर में तन बदन की गरमी से जूच रहा था ,और जब मेरा हाथ उनके नावी में परा तब तो जैसे सरे बंधन और रिश्ते सब कुछ भूल गये और मामी को चोदने के लिए ठान लिए .
mami ki suhagrat ki pic ,hindi chudai kahani with sexy bikini pic
मामी की सास मेरे हाथो की गर्माहट के साथ और भी तेज हो रहा था ,जो मुझे पाता चल रहा था .अचानक मामी ने भी response दिया और देखा मामी का गुलाब की तरह एक हाथ मेरी जांघो के बीच से गुजर ता हुआ मेरी सकत और तब अपने काबू से बहार मेरे जोउनांग में आया ,और धीरे धीरे वोह मेरे ९ इंच उस खिलोने के साथ खेलता रहा ,कभी ऊपर तो कभी निचे हाथ चलाने लागा .और एक हाथ से अपना दोनों फूली हुई बूब्स को मेरे हाथो में पकडाया .
मई मामी के तरफ मुर गया ,तो मामी ने आंख मारा और मेरा कपड़ा उतर ने को कहा .मई जंगिया खोल के के मामी के ऊपर चर गया .मामी के दोनों बारे बारे बूब्स में मई मु से चूस रहा था ,और दातो से कट रहा था ,मामी ने हल्का सा सिसकारी लिया क्यों की मेरा भाई सो रहा था वोह उठ न जाये ,इसीलिए मामी ने बोला चल पास की कमरे में जाते है ,जहा पे मई सोता अगर कोई न रहेता तो .
मामी अब मुझे निचे सोने को कहा और जमीन पे चटाई बिछा दिया क्यों की खटिया में जोर जोर से शोर मच जाता.मामी अब मेरे कमर के ऊपर बैठ गया .और अपने चुत को मेरे लोडे के साथ फिट किया और मुझे पाकर के मेरे ऊपर जोर जोर से उछालने लगी .अपने गांड को हिला हिला के पूरा माजा लेने का मूड में थी .
काफी देर से मामी ने चुदवाया नहीं था इसिलए पुरे कस्माकास किस साथ और पूरी सिद्दत के साथ चुद रही थी और अपने भरी जवानी की माजा लेरेही थी .तब हम लोग भूल ही गये थे की हम दोनों के अंडर के संपर्क है ,और सब कुछ भूल कर  एक दुसरे के अंडर समा गये थे .
मामी ने चुत चटवाने की जिद की तो मुझे वोह भी पूरी करना ही था ,कहे की वोह मेरी मामी थी .तो मई उनके चुत पर अपनी नरम सा जुवान रक्खा तो वोह पूरा तिलमिला गयी ,और मेरी सर को अपने चुत के साथ पकड़ ली .
मई इसी तरह पूरी रात मामी के साथ माजा ली ,मामी ने भी पूरी माजा ली मेरी साथ ,और सुबह सुबह नास्ता के साथ एक घरवाली जैसे स्माइल लेके मेरे पास आई .
इसी तरह हम लोग मस्ती करते थे रात को और मामी के साथ मई सुहागरात मनाता था .
Tags: mami ki chudai kahani,sex tories in hindi,rasila bhabhi ki kahani,mummy ki rasila kahani,suhagrat ki hindi sory

Updated: May 23, 2016 — 4:19 pm

Join with 10,000 readers everyday and read new exciting story

Exclusive bhabhi aur aunty chudai kahani everyday-99Hindi sex story © 2016
error: