कॉलेज में मैडम के साथ यादगार चुदाई

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम सुनील है .और ये बात है कॉलेज की जब मई अपना बी कॉम डिग्री कम्पलीट कर रहा था .कॉलेज में मस्ती का एक ही सोर्स था और वोह है सुनीता मैडम ,जिनको हम सब ही छात्रों ने मिलकर एक नाम दिया था रस की देबी ,और रातो की मल्लिका .
क्यों की सुनीता मैडम रातो में आके ही हर किसी का नींद और चैन चीन लेता था .मन  ही मन में हम उनके छुट के पुजारी थे और दिन रत उनके सपने देखते थे .किसी तारा उनको अपने जल में फसने के बारे में सोचते थे .दिल में जैसे उनके करना एक हलचल सी मची थी .
दोस्तों मई एक छोटे से गावो से हु ,इसलिए पहेले पहेले मई ब्फोत ही सरीफ किसम का हुआ करता था ,और परे में मई अब्बल था .इसिलए क्लास में मुझे काफी दुसरे लोगो से आगे रक्खा जाता था ,चाहे वोह किसी भी चीस में स्पोर्ट्स हो या पराई .
गर्मी के दिन थे ,क्लास चल रहा था ,सुनीता माम् क्लास ले रही थी ,और हमारे दिमाग में कुछ और ही चल रहा था ,दिल और दिमाग कही और ही था क्लास के बहार .अचानक से एक आईडिया दिमाग में आया मई अपना मोबाइल फ़ोन से सनी लियॉन का विडियो चला दिया ,और वोह भी जोर जोर से ,सब ही छात्र और मेरे दोस्तों ने हस परा ,तो पहेले सुनीता जी को गुस्सा आया पर वोह भी हस पारी .
पर सुनीता मैडम ने क्लास के बाद हमे बुलाया मीट करने के लिए ,मई तो बोहोत दर गया ,मुझे लगा की अब तो मेरी सिकायत होने बाला है ,सायेद ये बात ऊपर तक पोहोच के बवाल न खरा हो जाये पर ,मई दस ने मास नहीं हुआ ,मई पूरा कॉन्फिडेंस के साथ मैडम के पास गया ,तो मैडम ने मुझे देख के बैठ ने को कहा ,और बोला सुनील ,”तुम क्लास के हुनहर स्टूडेंट में से हो ,तुम क्यू उन सब स्टूडेंट के साथ रहेते हो ,तुम्हे वोह सन स्टूडेंट के साथ बिलकुल सूट नहीं करता .”
पहेले मुझे मैडम की बात पल्ले नहीं पारी ,उसके बाद वोह जब क्लारिफई की तब समझ आया की वोह क्या बताना चा रही थी .मैडम ने कहा ,मई ये सहर में काफी नयी हु,तो मुझे एक किराया का मकान धुंडने में मदत करो ,मुझे जितना दूर मैडम के बारे में पता था ,वोह ये थी की मैडम की नयी नयी सदी हुई है ,और वोह अपनी पति के पास रहेती है ,पर पति से उनका संपर्क उतना अच्छा नहीं था ,जिसलिए वोह काफी दिनों से अपसेट चल रही थी .
मई सोचा ठीक है चलो मई मैडम की मूड सेट कर दूंगा ,इस में बरी बात क्या है .वैसे भी इससे ज्यादा मैडम की नस्दिक आने की चांसेस भी बार जाएगी .
तो मई भी हा में हा मिला दिया ,और एक साम को मई उनके साथ किराया का रूम धुंडने चला गया ,रूम मेरे दोस्त की पापा की थी और वोह रूम मैंने उनको सस्ते में भी दिला दिया जो की बोहोत ही अच्छा था और सस्ता भी था ,जो मैडम को समझ आया ,मैडम कहा ,”सुनील मई तुम्हारा ऐसन टेल दबी हु ,तुमको कुछ तो स्पेसिला देना परेगा ,क्यू की तुम जो मेरे लिए किया ,वोह कोई और होता तो सायद न करता .”
मई बोला ,”इसमें ऐसन की क्या बात है ,”मई फुटेज खाने लग गया ,मई ने उनसे बातो बातो में उनका व्हाट्स अप्प नंबर भी मांग लिया और कहा मई अज आपको रत में बताऊंगा की मुझे क्या चाहिए .तो वोह जरा सा मुस्कुरायी और कही ,”मई तुम्हारा वेट करूँगा .”
मई जैसे सब कुछ प्लान किया था ,वैसे ही सब कुछ चल रहा था ,मैडम भी काफी घुल मिल गयी थी मई अब अपना कम करवा सकता था उनसे ,मई देखा की लोहा गरम है ,मई सोचा की हतोरा मर ही देता हु .
मई उनको रातो में मेसेज किया ,”आई लुब यू ,अप हम को बोहोत अच्छे लगते है ,हम आपको कैसे लगते है ?”
मैडम ने देखा की बोहोत देर बाद रिप्लाई दिया ,”मुझे भी तुम बोहोत पसंद हो ,मई तुमसे मिलना चहता हु ,कल सम को मिलो मुझसे “
मई जैसे और मुझसे रहा नहीं जा रहा था ,मैडम को सोच के मुझे खीचना परा दो बार रात में .मई मैडम का सरीर को कल्पना कर रहा था ,और किसी भी तरीके से उनकी बात दिमाग से हठ नहीं रहा था .
सुबह सुबह मई उनको कॉल किया ,तो दिन भर चैट कर्ट रही ,वोह कॉल्लेग गयी थी पर मई छुट्टी लेके घर में ही था और सम होने का इंतज़ार में था .बातो बातो में उनसे मई पुचा भी ,”की अज जो मुझे अपने घर में बुला रहे हो कोई खास बात है ?”
तो उसने इशारो इशारो में कह दी ,”तुम समझदार हो ,और समझदार के लिए एक इशारा ही काफी होता है .”मई पूरा तरीके से तैयार हुआ ,परफ्यूम लगाके घर में बोल दिया दोस्त के उधर पार्टी है तो रात को लौट न मुस्किल है .
sexy madam in red lehenga wearning and looking stunning hot
मई सोच के ही निकला था की आज तो रात भर हवन करेंगे चाहे जो भी हो जाये .मेडिकल स्टोर से कंडोम का पैकेट भी खरीद लिया ,और खाने में बिरियानी ले गया .खायेंगे बिरियानी और लेंगे पूरी तरीके से .
मैडम आतेही दरवाजा खोल दिया ,पूरा सज धज के खरी थी ,परफ्यूम की महक और मैडम की तन बदन से लिपटी हुई सारी और धीमा धीमा जल रहा था लाइट पूरा सम जैसे मदहोस कर रहा था ,साम नशीला था और उसके साथ अगर जाम हो जाये तो मजा ही कुछ अलग सा हो जायेगा .मई बियर की बोतल भी साथ लेकर आया था .तो मैडम ने मुझे बोला तुम ऊपर की कामड़े में जायो मई थोडा सा फ्रेश हो के आता हु,और चखने में क्या ले के आयु .मेरी नजर मैडम से हठ नहीं रहा था ,पूरा सेक्स goddess लग रही थी .गारा रंग की लिपस्टिक पेहें के राखी थी और वोह जब गंद हिलाते हिलाते बल को लेहेराते लेहेराते घर में घुसी तो उसका खुसबू पागल बना रहा था .
रोकना बिलकुल मुस्किल हो रहा था खुदको ,मई माम् को पीछे से जकड लिया तो मैडम ने बोला ,”बोहोत तड़प है अन्दर ,इतना भी जल्दी क्या है ,थोड और सबर कर लो .”
मई कहा ,”मुझसे और सबर नहीं होता .”मैडम की लाल लाल होठो पे एक किस किया ,उनके रसीले होठो का मजा ही कुछ अलग था ,बिलकुल हटके ,मई उनको पाकर के बिस्तर में लेटा दिया वोह धीरे धीरे मेरे जीन्स के ऊपर हठ फेर ने लगी ,मेरा लावडा पूरा खड़ा था जो मैडम की हाथो की टच से और भी तगड़ा हो गया .
मैडम ने बोला काफी सॉलिड बनाये हो ,”दिखाओ तो मैडम को बोला अप खुद ही खोल ले अप कही तो है अब से “.मैडम जीन्स की चैन खीचा और मेरा लावडा को अपने मु में लेके चूसता रहा पूरा जैसे vaccum क्लीनर की तरह चूस रहा था .
और मई मैडम की छुट में ऊँगली फेर रहा था ,मैडम बिस्तर में टिल मिला रहा था और मई उनको और भी हॉट बना रहा था ,उनके चूत गीली हो गया था ,उन्होंने मुझ से कहा ,”सुनील अब मेरे चूत में डालो .”
मई उनके पेटी कोट उठाके चूत में दल दिया ,अमदम मुझे जोर से कास के पाकर लिया ,और बरी मजे से दो घंटा तक बरी बारीकी से चूत चुदाई करता रहा .
बिच में भूख लग गया तो चूत चुदाई रोक के बिरियानी खा के फिर से लगाना स्टार्ट किया .पूरा रत तक मदम को मजा देता रहा सुबह उठके घर पोहोच गया ,माँ ने पुचा पार्टी में बोहोत दारू पिया था सायेद ,आंख एक दम लाल हो गया .
मई सोच रहा था मन ही मन में नहीं मई सुहाग रत मन के आया .
धन्य बाद दोस्तों ……

Updated: May 23, 2016 — 4:19 pm

Join with 10,000 readers everyday and read new exciting story

Exclusive bhabhi aur aunty chudai kahani everyday-99Hindi sex story © 2016
error: